पर्यावरण (Environment) के अर्थ, परिभाषा, और घटक - हिंदी में ilearnlot

Ads Top

पर्यावरण (Environment) के अर्थ, परिभाषा, और घटक

पर्यावरण (Environment) क्या है? आजकल पर्यावरण शब्द का इस्तेमाल अक्सर हमारे आसपास के लगभग सभी लोग टेलीविजन और अखबारों में करते आ रहे हैं। हर कोई पर्यावरण के संरक्षण और पूर्व-विभाजन के बारे में बोल रहा है। पर्यावरणीय मुद्दों पर चर्चा के लिए नियमित रूप से वैश्विक शिखर सम्मेलन आयोजित किए जा रहे हैं। पिछले सौ वर्षों के दौरान पर्यावरण, सामाजिक संगठन और संस्कृति के बीच आपसी संबंध समाजशास्त्र, नृविज्ञान और भूगोल में चर्चा की गई है। यह सब पर्यावरण के बढ़ते महत्व को दर्शाता है।

इसके अलावा, यह एक सच्चाई है कि जीवन पर्यावरण के साथ जुड़ा हुआ है। सामाजिक विज्ञान ने जीव विज्ञान से पारिस्थितिकी की अवधारणा को उधार लिया है। जीव विज्ञान की एक शाखा के रूप में, पारिस्थितिकी जीवों और उनके पर्यावरण के बीच संबंधों का अध्ययन है। जीवविज्ञान से समाजशास्त्र बहुत प्रभावित हुआ है। समाजशास्त्र पारिस्थितिकी के माध्यम से मनुष्य और पर्यावरण के बीच संबंधों का भी अध्ययन करता है। समाजशास्त्र में मानव पारिस्थितिकी के अध्ययन का क्षेत्र मनुष्य और उसके पर्यावरण के आसपास केंद्रित है।

समाजशास्त्र के क्षेत्र में मानव पारिस्थितिकी के अध्ययन की शुरुआत का श्रेय पार्क और बर्गेस को जाता है। मनुष्य और पर्यावरण के बीच घनिष्ठ संबंध है। एक ओर, मनुष्य पर्यावरण में पैदा होता है और पर्यावरण के साथ सामंजस्य स्थापित करता है। दूसरी ओर, आदमी अपने वातावरण को नियंत्रित करने और अपनी आवश्यकताओं के अनुसार इसे बदलने की कोशिश करता है। इसलिए इसके लिए उस वातावरण की समझ की आवश्यकता है जिसमें मनुष्य एक हिस्सा है।

पर्यावरण की अर्थ और परिभाषा:

पर्यावरण शब्द की उत्पत्ति फ्रांसीसी शब्द "एनिट्स" से हुई है जिसका अर्थ है घेरना। यह एबोटिक (शारीरिक या निर्जीव) और बायोटिक (जीवित) पर्यावरण दोनों को संदर्भित करता है। पर्यावरण शब्द का अर्थ परिवेश है, जिसमें जीव रहते हैं। पर्यावरण और जीव प्रकृति के दो गतिशील और जटिल घटक हैं। पर्यावरण मानव सहित जीवों के जीवन को नियंत्रित करता है। मनुष्य अन्य जीवित प्राणियों की तुलना में पर्यावरण के साथ अधिक सख्ती से बातचीत करता है। आमतौर पर, पर्यावरण उन सामग्रियों और ताकतों को संदर्भित करता है जो जीवित जीव को घेरती हैं।

पर्यावरण उन स्थितियों का कुल योग होता है जो किसी निश्चित समय और स्थान पर हमें घेर लेती हैं। यह भौतिक, जैविक और सांस्कृतिक तत्वों के परस्पर क्रिया प्रणालियों से युक्त है, जो व्यक्तिगत और सामूहिक रूप से परस्पर जुड़े हुए हैं। पर्यावरण कुल स्थितियों का योग है जिसमें एक जीव को अपनी जीवन प्रक्रिया को जीवित या बनाए रखना पड़ता है। यह जीवित रूपों की वृद्धि और विकास को प्रभावित करता है।

दूसरे शब्दों में, पर्यावरण उन परिवेशों को संदर्भित करता है जो जीवित प्राणियों को चारों ओर से घेरते हैं और उनके जीवन को टोटो में प्रभावित करते हैं। इसमें वायुमंडल, जलमंडल, स्थलमंडल और जैवमंडल शामिल हैं। इसके मुख्य घटक मिट्टी, पानी, वायु, जीव और सौर ऊर्जा हैं। इसने हमें आरामदायक जीवन जीने के लिए सभी संसाधन उपलब्ध कराए हैं।

According to P. Gisbert, 
“Environment is anything immediately surrounding an object and exerting a direct influence on it.”
हिंदी में अनुवाद : "पर्यावरण किसी वस्तु के तुरंत आसपास की चीज है और उस पर प्रत्यक्ष प्रभाव डालती है।"

According to E. J. Ross, 
“Environment is an external force which influences us.”
हिंदी में अनुवाद: "पर्यावरण एक बाहरी शक्ति है जो हमें प्रभावित करती है।"

इस प्रकार, पर्यावरण किसी भी चीज को संदर्भित करता है जो तुरंत एक वस्तु के आसपास होता है और उस पर सीधा प्रभाव डालता है। हमारा पर्यावरण उस चीज़ या एजेंसियों को संदर्भित करता है जो हालांकि हमसे अलग हैं, हमारे जीवन या गतिविधि को प्रभावित करती हैं। वह वातावरण जिसके द्वारा मनुष्य प्राकृतिक, कृत्रिम, सामाजिक, जैविक और मनोवैज्ञानिक कारकों से घिरा और प्रभावित होता है।

पर्यावरण के घटक:

पर्यावरण में मुख्य रूप से वायुमंडल, जलमंडल, स्थलमंडल और जीवमंडल होते हैं। लेकिन इसे मोटे तौर पर दो प्रकारों में विभाजित किया जा सकता है जैसे (1) माइक्रोएन्वायरमेंट और (2) मैक्रोएन्वायरमेंट। इसे दो अन्य प्रकारों में भी विभाजित किया जा सकता है जैसे (i) भौतिक और (ii) जैव पर्यावरण।

(1) सूक्ष्म वातावरण से तात्पर्य जीव के आसपास के स्थानीय से है।

(2) बड़ा वातावरण उन सभी भौतिक और जैविक स्थितियों को संदर्भित करता है जो जीव को बाहरी रूप से घेरते हैं।

  • भौतिक वातावरण सभी अजैविक कारकों या स्थितियों जैसे तापमान, प्रकाश, वर्षा, मिट्टी, खनिज आदि को संदर्भित करता है। इसमें वायुमंडल, स्थलमंडल और जलमंडल शामिल हैं।
  • बायोटिक वातावरण में सभी जैविक कारक या पौधे, जानवर, सूक्ष्म जीव जैसे जीवित रूप शामिल हैं।

No comments:

Powered by Blogger.